पंजाब & हरयाणा

मुसल्मानों को जुमा की नमाज़ से रोकना हरियाणा सरकार का नाजायज़ और अस्वीकार्य कृत्य: मौलाना सुलैमान अशरफ़ हामिदी

शहर इमाम ईदगाह, सम्भल ने की कड़ी निन्दा

मौलाना सुलैमान अशरफ़ हामिदी ने अपने प्रेस नोट में कहा है कि गुड़गांव में मुसलमानों की बड़ी आबादी है और इस व्यवसायिक शहर में मुसल्मान नौकर बड़ी संख्या में हैं सरकार की ओर से मस्जिद निर्माण की अनुमति न मिलने के कारण मुसल्मान खुली जगहों में नमाज़ अदा करने पर मजबूर हैं, लेकिन कम संख्या में मस्जिद होने के कारण मुसल्मान मजबूरन ऐसे स्थानों पर नमाज़ अदा कर रहे हैं, फिर भी सरकार का मुसलमानों को जुमा की अदायगी से रोकना बहुत ही अफ़सोसजनक और अस्वीकार्य कृत्य है, वक़्फ़ की अनेक भूमियों पर सरकार का क़ब्ज़ा है, सरकार उन भूमियों की वापसी नहीं कर रही है, लेकिन मुसलमानों को नमाज़ की अदायगी से रोक रही है हालांकि जुमा की अदायगी में बड़ी मुश्किल से एक घंटे का समय लगता है, तंज़ीम उलामाऐ अहले सुन्नत जिला सम्भल इस कृत्य की निंदा करती है और हरियाणा सरकार से मांग करती है कि वह तत्काल प्रभाव से मुसल्मानों को जुमा की नमाज़ की अदायगी के मामले का समाधान करे,
विश्व हिंदु परिषद और बजरंग दल जैसे आतंकवादी संगठनों ने जो रवैया अपनाया हुआ है उनको विधिवत दंड दे और क़ानून व्यवस्था सुनिश्चित करे ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *