गोरखपुर

ईद की नमाज़ के लिए ईदगाहों व मस्जिदों में तैयारियां तेज

गोरखपुर। ईद-उल-फित्र की नमाज़ के लिए ईदगाहों व मस्जिदों में तैयारियां तेज हैं। साफ-सफाई व रंग रोगन जारी है। ईदगाह मुसलमानों के दो सबसे बड़े त्योहारों ईद-उल-फित्र और ईद-उल-अज़हा की ख़ुशी मनाने के लिए है। यहीं पर दो रकात नमाज़ अदा कर बंदे अल्लाह का शुक्र अदा करते हैं और खुशियां मनाते हैं। ईदगाहें के अलावा शहर में मौजूद कई दर्जन मस्जिदों मे भी ईद-उल-फित्र की नमाज़ की तैयारियां तेज हैं। कारी मोहम्मद अनस रज़वी ने बताया कि ईदगाह का अर्थ होता है ख़ुशी की जगह या ख़ुशी का वक्त। यह ऐसी जगह है जहां पर बंदे दो रकात नमाज़ पढ़कर अल्लाह का शुक्र अदा करते हैं। जब बंदा 29 दिन या 30 दिन का रोज़ा पूरा कर लेता है तो अल्लाह तआला उसे ख़ुशी मनाने का हुक्म देता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *