कानपुर शिक्षा

बरकाती पैगाम “आधी रोटी खाइये बच्चों को पढाइये” का समाज में देखने को मिल रहा काफी असर: वासिक बेग बरकाती

कानपुर – कानपुर के अजमेरी चौराहे के पास स्थित हकीम निज़ामुद्दीन तकमीली के बेटे हाफिज़ नबील निज़ाम ने बी.यू.एम.एस. में पूरे उत्तर प्रदेश में टॉप करके ये साबित कर दिया कि सच्ची लगन और मेहनत से पढ़ाई की जाये तो सफलता ज़रूर मिलती हैं I मुस्लिम स्टूडेंट्स ओर्गेनाईज़ेशन ऑफ इंडिया की कानपुर यूनिट ने मंगलवार को चमनगंज स्थित शिफा जर्मन होम्योपैथिक केयर सेंटर में डॉक्टर नबील निज़ाम के सम्मान समारोह का प्रोग्राम रखा I एम.एस.ओ. कानपुर यूनिट के सदर मुहम्मद वासिक बेग बरकाती ने डॉक्टर नबील निज़ाम को हार पहनाकर और मिठाई खिलाकर सम्मानित किया और बेहद खुशी जताई और डॉक्टर नबील निज़ाम को खूब दुआओं से भी नवाज़ा I इस मौके पर शहरकाज़ी कानपुर मुफ्ती साकिब अदीब मिस्बाही साहब ने कहा कि खानकाह ए बरकातिया मारहरा शरीफ का बरकाती पैगाम “आधी रोटी खाइये बच्चों को पढाइये” का मुस्लिम समाज में काफी असर देखने को मिल रहा हैं, मुस्लिम स्टूडेंट्स तालीम के मैदान में खूब खूब कामयाबी हासिल कर रहे हैं ये इस बरकाती पैगाम का ही असर है जो हर जगह देखने को मिल रहा है I इस मौके पर मुख्य रूप से के.एच.एम.सी. में गोल्ड मेडलिस्ट रही डॉक्टर नूर फातिमा, वैक्सीनेशन इंचार्ज डॉक्टर अस्फिया हाश्मी, डॉक्टर ज़ीशान अंसारी, ज़ैन हबीब, उमैर आलम, और एम.एस.ओ. कानपुर यूनिट के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे I

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *