धार्मिक सामाजिक

शौहर के हुक़ूक़

बेहतरीन बीवी वह है:

  • जो अपने शौहर की फरमा बरदारी और ख़िदमत गुज़ारी को अपना फर्जे मनसबी समझे!
  • जो अपने शौहर के तमाम हुकूक अदा करने में कोताही न करे!
  • जो अपने शौहर की खूबियों पर नज़र रखे और उसके ड्यूब और खामियों को नज़र अन्दाज़ करती रहे!
  • जो अपने शोहर के सिवा किसी अजनबी मर्द पर निगाह न डालें न किसी की निगाह अपने ऊपर पड़ने दे!
  • जो अपने शौहर की ज्यादती और जुल्म पर हमेशा सब्र करती रहे!
  • जो मज़हब की पाबंदी और दीनदार हो और अल्लाह व बन्दें के हुकूक़ को अदा करती हो!
  • जो पर्दे में रहे और अपने शौहर की इज्जत नामूस की हिफ़ाज़त करें ।

(सलिक़ा-ए-ज़िन्दगी, सफह 31/32)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *