गोरखपुर

शान से निकला जुलूस-ए-मोहम्मदी

गोरखपुर। मदरसा अरबिया शमसुल उलूम अहले सुन्नत मिर्जापुर चाफा में परचम कुशाई के बाद जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया। जिसमें
मो. सुलेमान अली, फिरोज़ अहमद, सरवर अली, अनवर अली, मुर्तजा अली, शमसुद्दीन, मनौव्वर अली, अल्ताफ अली, तैयब अली, अब्दुल वाहिद, लियाकत अली, मो. असलम, कमलेश निषाद, मोहम्मद रफीक, साबिर अली, दीपक, विशाल, रियाजुद्दीन, रमज़ान, मकसूद, महफूज, सदरुद्दीन, यासीन, आदि शामिल रहे। अंत में जलसा हुआ।

नौज़वान कमेटी जाफ़रा बाजार के जुलूस में हाफ़िज़ रहमत अली, एहतेशाम हुसैन, आमिर निज़ामी, आरिफ समानी, तनवीर आलम, साहिल, मो. सलीम, इसहाक, परवेज, इमरान, ग्यासुद्दीन, तारिक समानी, सलाहुद्दीन, अब्दुल, महमुदूल आदि शामिल रहे।

तकिया कवलदह के जुलूस में मौलाना जहांगीर अहमद अज़ीज़ी, सैयद अब्दुल रऊफ, सैयद नदीम अहमद, सैयद हुसैन अहमद, सैयद मतीन अहमद, सैयद ताहिब, शादाब अहमद, शहाबुद्दीन क़ादरी, मोहम्मद अशरफ, शमसुद्दुहा, मोहम्मद इसहाक, मोहम्मद सफर, मोहम्मद इस्लाम, मोहम्मद अमान अत्तारी, कारी मो. अनस रज़वी आदि शामिल रहे।

तुर्कमानपुर के जुलूस में मनोव्वर अहमद, शाबान अहमद, अलाउद्दीन निज़ामी, नईम अहमद, तौहीद अहमद, शुएब अहमद आदि शामिल रहे।

मोहल्ला मियां बाजार रेती रोड से वारिस कमेटी की ओर से जुलूस निकाला गया। जिसका नेतृत्व नूर मोहम्मद दानिश ने किया। जुलूस में अली हसन, अब्दुल कादिर, सफीक अहमद उर्फ सलमान, सैयद शहाबुद्दीन, मोहम्मद नाज़िम आदि लोग मौजूद रहे।

मोहल्ला रहमतनगर के जुलूस में गज़नफर अली शाह, मुजफ्फर शाह, तौसीफ अहमद, हाजी रफीक हसन, हाजी नियाज़, अली अख्तर, मुश्ताक हसन, मारूफ, हसन, अली अहमद आदि शामिल रहे।

बक्शीपुर के जुलूस में हाफ़िज़ महमूद रज़ा, मुख्तार, फ़रहान खान, शमशाद खान, अख़्लाक खान, समीर अली, समीउल्लाह अली, फैजान अली, इसरार हुसैन, शारिक अली, अरमान, शहजादे, ताज मोहम्मद, मुबारक अली, साहब अली, गुफरान, शाहिद, नियाजी अली आदि मौजूद रहे।

गाजी रौजा, अहमदनगर चक्शा हुसैन, खरादी टोला, पांडेहाता, बड़गो, घासीकटरा, धम्माल, तिवारीपुर, रसूलपुर, गोरखनाथ, खूनीपुर, घोसीपुरवा सहित सभी मोहल्लों से जुलूस निकला। जगह-जगह जुलूस का स्वागत हुआ। जुलूस का मुख्य केंद्र नखास चौराहा रहा। जुलूस के मार्गों पर कई जगह स्वागत द्वारा बने थे। जिसे गुब्बारों व झालरों से सजाया गया था। जगह-जगह जुलूसों का स्वागत कर जर्दा, बिस्किट, केक, इमरती आदि बांटी गई।

ग़ौसे आज़म फाउंडेशन के जिलाध्यक्ष समीर अली, हाफ़िज़ मो. अमन, मो. फैज़, मो. ज़ैद मुस्तफाई, मो. ज़ैद चिंटू, रियाज़ अहमद, अमान अहमद, मो. समीर, मो. शारिक, सैयद ज़ैद, मो. आसिफ, अली गजनफर ने जुलूस-ए-मोहम्मदी में केक व पानी बांटा। कई जगह लंगर भी बांटा गया। जुलूस में लोग लोग सेल्फी लेते भी दिखे। कई जुलूसों में मस्जिद व दरगाहों के मॉडल आकर्षण का केंद्र रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *