गुजरात

दहेज़ की वजह से आइशा नामक मुस्लिम महिला ने किया था सुसाईड

अहमदाबाद

आयशा की अपने पैरेंट्स से आखिरी बात: पति ने मुझसे कहा था कि मरना हो तो मर जाओ और मरने का वीडियो भेज देना

अहमदाबाद की आयशा ने सुसाइड करने से पहले एक इमोशनल वीडियो बनाया जिसमें वे परिवार को मैसेज दे रही हैं। आयशा ने सुसाइड करने से पहले अपने पैरेंट्स को भी फोन किया था। पैरेंट्स ने समझाने की कोशिश की, लेकिन आयशा नहीं मानीं। उन्होंने कहा कि अब बहुत हो चुका-अब नहीं जीना, बच गई तो ले जाना, अगर मर गई तो दफन कर देना। आयशा ने अपने पैरेंट्स से यह भी बताया था कि पति को उसकी कोई परवाह नहीं।

पति ने कहा था कि मरने का वीडियो भेज देना

आयशा के पिता लियाकत अली ने बताया, ‘बेटी ने सुसाइड करने पहले मोबाइल पर कॉल किया था। उसने बताया कि साबरमती नदी के ब्रिज पर खड़ी है और मरने जा रही है। हमने उसे समझाने की बहुत कोशिश की। यहां तक कि कुरान की कसम भी दी, लेकिन आयशा बस रोती रही और कहा कि आरिफ मुझे लेने नहीं आ रहा। मैंने कुछ दिन पहले उसे फोन किया था। उससे यह भी कहा था कि तुम्हारे बिना मर जाऊंगी, तो उसने बोला कि मरना है तो मर जाओ और मरने का वीडियो भेज देना। इसी बात से आयशा टूट गई थी।’

राजस्थान के जालौर में रहने वाला आयशा का शौहर आरिफ। 2018 में आयशा का निकाह आरिफ के साथ हुआ था।
राजस्थान के जालौर में रहने वाला आयशा का शौहर आरिफ। 2018 में आयशा का निकाह आरिफ के साथ हुआ था।
वीडियो में कहा – सुकून से जाना चाहती हूं
आयशा ने सुसाइड से पहले जो वीडियो बनाया उसमें कहा, ‘हैलो, अस्सलाम अलेकुम, मेरा नाम आयशा आरिफ खान…और मैं जो कुछ भी करने जा रही हूं, मेरी मर्जी से करने जा रही हूं। इसमें किसी का दबाव नहीं है, अब बस क्या कहें? ये समझ लीजिए कि खुदा की दी जिंदगी इतनी ही थी और मुझे इतनी जिंदगी बहुत सुकून वाली मिली। और डैड, कब तक लड़ोगे? केस विड्रॉल कर लीजिए।’

आयशा ने सुसाइड से पहले साबरमती नदी के ब्रिज पर हंसते हुए वीडियो बनाया था
आयशा ने सुसाइड से पहले साबरमती नदी के ब्रिज पर हंसते हुए वीडियो बनाया था।
ऐ प्यारी नदी, प्रार्थना है मुझे अपने में समा लो’ यह कहते हुए महिला अहमदाबाद की साबरमती नदी में कूदी
‘आयशा का शौहर दहेज के लिए प्रताड़ित करता था’
अहमदाबाद में रहने वाले और पेशे से टेलर आयशा के पिता लियाकत अली ने बताया, ‘बेटी का निकाह 2018 में जालौर (राजस्थान) में रहने वाले आरिफ खान से हुआ था, लेकिन शादी के बाद से ही उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। शादी के कुछ महीनों बाद ही आरिफ दहेज की मांग करते हुए आयशा को मायके छोड़ गया। बाद में रिश्तेदारों के समझाने पर साथ तो ले गया, लेकिन 2019 में फिर से हमारे पास छोड़ गया। आरिफ और उसके घर वाले डेढ़ लाख रुपए की मांग कर रहे थे। किसी तरह पैसों का इंतजाम कर उन्हें दे भी दिए थे।’

खबरें और भी हैं…
मुस्कुराते वीडियो के साथ खुदकुशी : ‘ऐ प्यारी नदी, मुझे अपने में समा लो, मैं बस बहते रहना चाहती हूं…’ यह कहकर अहमदाबाद की साबरमती में कूद गई महिला

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button