बाराबंकी

पार्यवरण संरक्षण जल वायु कृषि पद्धति के तहत गौष्ठी

बाराबंकी(अबू शहमा अंसारी)स्थानीय शिवगंगा मैरिज लान में प्रसार संस्था एव यूरोपियन यूनियन बार्नफोण्डेन चाइल्डफंड इंडिया के तत्वाधान में पर्यावरण संरक्षण एव जलवायु अनुकूल कृषि पद्धति को बढ़ावा देने के लिए गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में दो सैकड़ा से अधिक महिलाओं ने प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम में उपस्थित सदस्यों को सम्बोधित करते हुए प्रोग्राम समन्वयक अभिषेक सिंह ने कहा कि पर्यावरण में फैला प्रदूषण धीरे धीरे वैश्विक संकट बनता जा रहा है जिसके प्रति लोगो को जागरूक होने की जरूरत है क्योंकि प्रदूषण से वायुमंडल दूषित होने से जनजीवन के अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है। जिसका मुख्य कारण है अंधाधुंध पेड़ो की कटाई है ऐसे में हम सभी की जिम्मेदारी है कि ज्यादा से ज्यादा पेड़ रोपित करे।
उप कृषि निदेशक श्रवण कुमार सिंह ने कहा कि बालिकाएं शिक्षित होकर अपने परिवार समाज के उन्नति में विशेष योगदान दे सकती इसलिए बालिकाओं को शिक्षा अवश्य दिलाये। उपकृषि निदेशक श्रवण कुमार सिंह ने कहा कि कोशिश होनी चाहिए कि भूमि की मालिक महिलाएं हो जिससे सरकार द्वारा चलायी जाने वाली योजनाओं का लाभ महिलाओं को मिल सके।
प्रसार संस्था के सचिव शिशुपाल सिंह ने कार्यक्रम पर चर्चा करते हुए कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के दस जिलों में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य किया जा रहा है उन्होंने कहा कि जिले के विकास खण्ड मसौली के 15 राजस्व गाँवो में 68 महिला किसान समूहों का गठन कर 1532 सदस्यों को जोड़ा गया है जिन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए एग्रोप्रसार फारमर प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 का गठन कर बैंक से जोड़ा गया है जिसके संचालन में दस महिला सदस्यों को दी गयी हैं जिसके तहत खाद, बीज, कीटनाशक दवाओं के लाइसेंस प्राप्त कर कृषि संसाधन केंद्र का संचालन किया जा रहा है।
महिला उपनिरीक्षक माया यादव ने कहा कि आज की महिलाओं का काम केवल घर गृहस्थी सम्भालने तक ही सीमित नही है महिलाएं आज हर क्षेत्र में पुरुषों की तरह सबल है। परिवार या व्यापार में आज महिलाओ ने यह साबित कर दिया है कि वे हर काम करके दिखा सकती है। उन्होंने कहा कि जैसे जैसे महिलाओ को शिक्षा मिल रही हैं उनकी समझ में व्रद्धि हो रही है और खुद को आत्मनिर्भर बनाने की सोच एव इच्छा उत्पन्न हुई है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के जरिये महिलाओ ने अपने ऊपर विश्वास करना सीखा है।और घर के बाहर की दुनिया को जीत लेने का सपना बुना है। जिसे काफी हद तक पूरा भी किया है। उपनिरीक्षक ने सरकार द्वारा महिला सुरक्षा के प्रति जारी हेल्पलाइन नम्बरो की जानकारी दी।
कार्यक्रम में आरती वर्मा, रेनू सुप्रवाइजर, बबिता यादव, काजल रावत,गोविंद यादव, सपना वर्मा , महिमा मौर्या सहित भारी संख्या में महिलाएं मौजूद रही।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *