बाराबंकी

बैंक कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर, जिम्मेदार बेखबर

अबू शहमा अंसारी
बाराबंकी!योगी सरकार में बैंक कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर आपको बताते चलें की बाराबंकी जनपद के अंतर्गत बैंक ऑफ इंडिया शाखा भीखरपुर में अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों की मनमानी चरम सीमा पर योगी सरकार के सख्त निर्देशों के बावजूद सरकार के मंसूबों पर पानी फेरने से बाज नहीं आ रहे बैंक ऑफ इंडिया शाखा भीखमपुर के कर्मचारी एक पीड़ित महिला ने शिकायती पत्र देते हुए आरोप लगाया है बैंक कर्मचारियों के द्वारा आये हुए ग्राहकों से अभद्रता की जाती है बैंक के अधिकारी से लेकर कर्मचारी कभी भी समय पर बैंक नहीं आते हैं पीड़ित महिला का आरोप है कि वह अपनी पासबुक लेकर बैंक गई हुई थी पैसे निकालने के लिए तो महिला ने सोचा कि पहले बैलेंस चेक करवा लेती हूं फिर भी पैसा नीकालूंगी इतने में जैसे ही महिला ने बैलेंस चेक करने के लिए बैंक में बैठे एक कर्मचारी को अपनी पासबुक दिया और बैलेंस चेक कर बताने को कहा तो बैंक कर्मचारी ने महिला की पासबुक फेंकते हुए महिला को लाइन में लगने को कहा तब महिला ने कहा कि सर आप लोग स्वयं लेट आते हो और दूसरे को कानून पढ़ाते हो आप लोग पूरे 15 मिनट लेट से बैंक आए हैं जिसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी मेरे पास मौजूद है। इतना सुनते ही बैंक कर्मचारी आग बबूला हो गया महिला से अभद्रता तक कर डाली इतना ही नहीं गार्ड को बुलाकर उस महिला को धक्का देकर बैंक से बाहर निकलवा दिया और कहा कि नहीं होगा आपका काम जाइए जो मर्जी आए कर लीजिए अगर इसी तरह से ग्राहकों के साथ बैंक कर्मचारियों के द्वारा अभद्रता की जाएगी तो बैंक ग्राहकों का क्या होगा यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है महिला ने उच्च अधिकारियों को शिकायती पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग की है। इतना ही नहीं बैंक ऑफ इंडिया शाखा भीखरपुर आए दिन अपनी शिथिल कार्यशैली की कारण अखबारों की सुर्खियों में बना रहता है। अगर समय पर बैंक के अधिकारी व कर्मचारी बैंक आकर और जिम्मेदारी से काम को करें तो शायद ग्राहकों को इस परेशानी का सामना ना करना पड़े फिलहाल अब देखना यह होगा कि महिला के शिकायती पत्र में उच्च अधिकारियों के द्वारा संज्ञान लेकर क्या कार्रवाई की जाती है या शिकायत को यूं ही ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *