गोरखपुर

नवंबर माह में होगी जलसों की बहार

गोरखपुर। नवंबर माह में शहर के कई मोहल्लों में जलसा होगा। जिसके जरिए दीन-ए-इस्लाम व पैग़ंबर-ए-आज़म हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की तालीम को आम किया जाएगा। एकता, भाईचारगी व मोहब्बत का भी पैग़ाम आम होगा। रेती रोड निकट मदीना मस्जिद पर मंगलवार 2 नवंबर को रात 8:30 बजे से जलसा-ए-ईद मिलादुन्नबी होगा। जिसमें नायब काजी मुफ़्ती मोहम्मद अज़हर शम्सी व गौसिया मस्जिद के इमाम मौलाना मोहम्मद अहमद निज़ामी तकरीर करेंगे। नात-ए-पाक कासिद रज़ा इस्माइली, मोहम्मद अफरोज क़ादरी पेश करेंगे। संचालन हाफ़िज़ अज़ीम अहमद नूरी का होगा।

बुधवार 3 नवंबर को रात 8:30 बजे से चक्शा हुसैन पचपेड़वा गोरखनाथ में जलसा-ए-ईद मिलादुन्नबी होगा। जिसमें मौलाना इम्तियाज़ अहमद व मुफ़्ती मोहम्मद अज़हर शम्सी की तकरीर होगी। नात-ए-पाक शादाब अहमद रज़वी व अफरोज क़ादरी पेश करेंगे।

इमाम बारगाह पुराना गोरखपुर गोरखनाथ में अराकीने अंजुमन ख़्वातीने इस्लाम की ओर से शनिवार 6 नवंबर को सातवां जलसा-ए-ख़्वातीन रात 8 बजे से शुरु होगा। संचालन मुफ्तिया तमन्ना नूरी करेंगी। तकरीर मुफ्तिया फिरदौस जबीं, मुफ्तिया ग़ाजिया खानम, आलिमा नाजिश फ़ातिमा करेंगी। नात-ए-पाक आलिमा समीना जबीं व आलिमा गुलफिशां पेश करेंगी।

वहीं बुधवार 10 नवंबर को हुसैनाबाद चक्शा हुसैन गोरखनाथ में पैग़ामे हक कांफ्रेंस रात 8:30 बजे से शुरु होगी। जिसमें संतकबीरनगर के मुफ़्ती अख़्तर हुसैन अलीमी, घोसी के मुफ़्ती शमशाद अहमद मिस्बाही तकरीर पेश करेंगे। नात-ए-पाक मौलाना सैफ अली, छ्त्तीसगढ़ के सैयद अब्दुल क़ादिर, नूर अहमद नूर पेश करेंगे। संचालन मौलाना मोहम्मद हारून अलीमी का होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *