गोरखपुर

पैगंबर-ए-इस्लाम के गुस्ताख को जेल भेजा जाए: मौलाना अफरोज़

गोरखपुर। हुसैनी कमेटी की ओर से सहजनवां वार्ड नं. 14 में शनिवार देर रात तहफ़्फ़ुजे नामूसे रिसालत जलसा हुआ। खिताब करते हुए मौलाना अफरोज निज़ामी ने कहा कि पैगंबर-ए-इस्लाम (सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम) की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो लोग भी ऐसा कर रहे हैं उनको सज़ा देने के लिए कानून बनाया जाए। हिंदुस्तान सरकार से हमारी मांग है कि ऐसे लोगों को पकड़कर जेल में बंद किया जाए ताकि आइंदा किसी और की पैगंबर-ए-इस्लाम के ख़िलाफ अपशब्द कहने जुर्रत न हो। आगाज़ क़ुरआन-ए-पाक की तिलावत से हुआ। नात व मनकबत नौशाद, अनवर, शम्स तबरेज निज़ामी, हाफ़िज़ इसरार अहमद ने पेश की। संचालन शहजाद अहमद ने किया। जलसे में मौलाना अनवर अहमद, रमज़ान, मेराज, गोलू, शालू, इरफ़ान, झिनक, निज़ामुद्दीन, रिंकू, नूर मोहम्मद आदि मौजूद रहे। अंत में सलातो सलाम पढ़कर मुल्क में अमन व शांति की दुआ मांगी गई।

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button