गोरखपुरधार्मिक

रमज़ान का आगाज़ अप्रैल से, पहला रोज़ा सबसे छोटा आख़िरी सबसे बड़ा

गोरखपुर। मुकद्दस रमजाऩ का आगाज़ अप्रैल माह से हो रहा है। चांद के दीदार के साथ 13 या 14 अप्रैल से मुकद्दस रमजाऩ शुरु हो जाएगा। पहला रोजा 14 घंटा 8 मिनट का होगा। जो मुकद्दस रमज़ान का सबसे छोटा रोजा होगा। वहीं अंतिम रोजा 14 घंटा 52 मिनट का होगा। जो सबसे मुकद्दस रमज़ान का सबसे बड़ा रोजा होगा। रमजाऩ कैलेंडर व कार्ड जारी होना शुरु हो चुके हैं। सोशल मीडिया पर रमज़ान कैलेंडर व कार्ड भी शेयर किए जा रहे हैं। रमज़ान में सहरी व इफ्तार बहुत अहम है। समय से सहरी करने व रोजा इफ्तार करने के लिए मदरसा व आमजन द्वारा रमज़ान कार्ड व कैलेंडर छपवा कर बांटा जाता है। मुस्लिम घरों व मस्जिदों में रमज़ान की तैयारियां शुरु होने वाली हैं। रमजाऩ की रातों में पढ़ी जाने वाली तरावीह नमाज़ पढ़ाने वाले हाफ़िज़-ए-क़ुरआन मुकद्दस क़ुरआन दोहरा रहे हैं। रमज़ान में रोजेदार दिन में रोजा रखेंगे और रात में तरावीह नमाज पढ़ेंगे।

मुफ्ती अख्तर हुसैन मन्नानी (मुफ्ती-ए-शहर) ने बताया कि मुकद्दस रमज़ान का पहला अशरा रहमत, दूसरा मग़फिरत, तीसरा जहन्नम से आज़ादी का है। रमज़ान रहमत, खैरो बरकत का महीना है। इसमें रहमत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं। जहन्नम के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं। शैतान जंजीर में जकड़ दिए जाते हैं। नफ़्ल का सवाब फर्ज के बराबर और फर्ज का सवाब सत्तर फर्जों के बराबर दिया जाता है।

गोरखपुर शहर व देहात हेतु रमज़ान शरीफ कार्ड

रमज़ानअंग्रेजी तारीख़सहरी का आख़िरी वक्तइफ्तार का वक्त
114 अप्रैलसुबह 4:13 बजेशाम 6:21 बजे
215 अप्रैलसुबह 4:12 बजेशाम 6:21 बजे
316 अप्रैलसुबह 4:11 बजेशाम 6:22 बजे
417 अप्रैलसुबह 4:10 बजेशाम 6:22 बजे
518 अप्रैलसुबह 4:09 बजेशाम 6:23 बजे
619 अप्रैलसुबह 4:07 बजेशाम 6:23 बजे
720 अप्रैलसुबह 4:06 बजेशाम 6:24 बजे
821 अप्रैलसुबह 4:05 बजेशाम 6:24 बजे
922 अप्रैलसुबह 4:04 बजेशाम 6:25 बजे
1023 अप्रैलसुबह 4:03 बजेशाम 6:25 बजे
1124 अप्रैलसुबह 4:02 बजेशाम 6:26 बजे
1225 अप्रैलसुबह 4:01 बजेशाम 6:26 बजे
1326 अप्रैलसुबह 4:00 बजेशाम 6:27 बजे
1427 अप्रैलसुबह 3:59 बजेशाम 6:28 बजे
1528 अप्रैलसुबह 3:58 बजेशाम 6:28 बजे
1629 अप्रैलसुबह 3:57 बजेशाम 6:29 बजे
1730 अप्रैलसुबह 3:56 बजेशाम 6:29 बजे
1801 मईसुबह 3:55 बजेशाम 6:30 बजे
1902 मईसुबह 3:54 बजेशाम 6:30 बजे
2003 मईसुबह 3:53 बजेशाम 6:31 बजे
2104 मईसुबह 3:52 बजेशाम 6:31 बजे
2205 मईसुबह 3:51 बजेशाम 6:32 बजे
2306 मईसुबह 3:50 बजेशाम 6:32 बजे
2407 मईसुबह 3:49 बजेशाम 6:33 बजे
2508 मईसुबह 3:48 बजेशाम 6:34 बजे
2609 मईसुबह 3:47 बजेशाम 6:34 बजे
2710 मईसुबह 3:46 बजेशाम 6:35 बजे
2811 मईसुबह 3:45 बजेशाम 6:35 बजे
2912 मईसुबह 3:44 बजेशाम 6:36 बजे
3013 मईसुबह 3:44 बजेशाम 6:36 बजे
नोट: सेहरी के समय 5 मिनट जल्दी करें और इफ्तार के समय 2 मिनट देर से रोज़ा इफ्तार करें|

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button