गोरखपुर

गोरखपुर: मुफ्ती-ए-शहर के सिर सजी खिलाफत व इजाज़त की दस्तार

गोरखपुर। अक्सा मस्जिद शाहिदाबाद, हुमायूंपुर उत्तरी में घोसी, मऊ के पीरे तरीकत अल्लामा मुफ्ती रिज़वान अहमद शरीफी ने मुफ्ती अख्तर हुसैन मन्नानी (मुफ्ती-ए-शहर) को सिलसिला-ए-क़ादरिया रज़विया की तमाम खिलाफत व इजाज़त अता फरमाई और दस्तार बांधी। उन्होंने मुसलमानों को शरीयत पर अमल करने, पांच वक्त की फर्ज नमाज वक्त से अदा करने की नसीहत की। निकाह शरीयत के हिसाब से करने की हिदायत दी।

दरूदो सलाम पढ़कर मुल्क में अमनो अमान की दुआ मांगी गई। इस दौरान मौलाना तफज़्ज़ुल हुसैन रज़वी, मौलाना इम्तियाज अहमद कामली, हाफिज अज़ीम अहमद नूरी, हाफिज मो. इब्राहीम नूरी, हाफिज मो. आरिफ रज़ा, बरकत अली, मुहर्रम अली, मो. मुर्तजा, अब्दुल हमीद, सनी, सैफ अली, इरशाद अहमद, मो. असलम, वलीउल्लाह, जलालुद्दीन, शीबू, मो. अनस रज़ा, बब्लू, ताज मोहम्मद आदि मौजूद रहे।

अध्यापकों व छात्रों ने किया स्वागत

मुफ्ती अख्तर हुसैन मन्नानी (मुफ्ती-ए-शहर) को खिलाफत व इजाज़त मिलने की खुशी में बुधवार को मदरसा दारुल उलूम हुसैनिया दीवान बाजार में स्वागत समारोह हुआ। अध्यापकों व छात्रों ने मुफ्ती अख्तर को फूलों की माला पहनाई। फातिहा ख्वानी व दुआ ख्वानी हुई। इस दौरान मदरसे के प्रधानाचार्य हाफिज नजरे आलम कादरी, कारी सरफुद्दीन, मौलाना इदरीस निज़ामी, हाफिज महमूद रज़ा कादरी, मोहम्मद आज़म, मौलाना रियाजुद्दीन, इमाम हसन, नियाज, अली हुसैन, शारिक, अमान, एमादुद्दीन, सलीम मलिक सहित तमाम छात्र मौजूद रहे।

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button