प्रयागराज

प्रयागराज: एक लाख का जूता पहनता हूं, उसी से पीटता हूं

दारोगा को दबंगई दिखाना पड़ा भारी, केस का आदेश

इस ख़बर को अपने पसंदीदा भाषा में पढ़ें [gtranslate]

मेरे बारे में पता कर लेना, मैं करछना थाने में एक लाख का जूता पहनता था और उसी से मारता हूं, मेरी शिकायत की तो गोली मार दूंगा। इस तरह से दबंगई दिखाना प्रयागराज में तैनात दारोगा को भारी पड़ गया है।

मेरे बारे में पता कर लेना, मैं करछना थाने में एक लाख का जूता पहनता था और उसी से मारता हूं, अगर मेरी शिकायत की तो तुम्हें गोली मार दूंगा। इस तरह की बातें बोलकर धमकाना प्रयागराज में तैनात दारोगा को भारी पड़ गया है। दारोगा की दबंगई पर अदालत ने सख्त रुख अख्तियार किया है। दारोगा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना का आदेश दिया गया है। 

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरेंद्र नाथ ने पीड़िता की अर्जी पर झूंसी थाने में तैनात दारोगा नवीन सिंह सहित छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। पीड़िता ने धारा 156 (3) के तहत अर्जी पेश कर आरोप लगाया था कि 26 अक्टूबर 2021 को झूंसी थाने में तैनात दरोगा नवीन सिंह ने अन्य के साथ मिलकर उसे और उसके पति को मारापीटा। जिससे उसके पति का हाथ- पैर टूट गया और उसे 10 से ज्यादा चोटें आईं।
दरोगा की मौजूदगी में बाकी आरोपित घर के सारा सामान और जमीन का कागज उठा ले गए। घटना के बाद दरोगा ने धमकी दी कि मेरे बारे में पता कर लेना, मैं करछना थाने में एक लाख का जूता पहनता था और उसी से मारता हूं, अगर मेरी शिकायत की तो तुम्हें गोली मार दूंगा।

योगी की विश्वासपात्र आईएएस अफसर रेणुका कुमार ने भी मांगा वीआरएस, एक हफ्ते में तीसरी अधिकारी ने दिया आवेदन

‘एकनाथ शिंदे अयोध्या’ के नाम पर क्यों रखे थ 10 लाख? संजय राउत के घर मिले कैश पर ल

कोर्ट ने प्रस्तुत प्रार्थना पत्र पर थाने से विस्तृत आख्या आने के बाद दरोगा समेत आरोपित श्यामसुंदर, राजकुमार, रामबली, रवि, रंजीत और दिलीप के विरुद्ध थाना प्रभारी झूंसी को मुकदमा दर्ज कर विवेचना करने का आदेश दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *