शिक्षा हरदोई

बच्चों की दशा बदली, बदले दिशा

शिक्षक संकुल बैठक:
बच्चों के अभिभावकों का बैंक खाते का कराएं सत्यापन
बेस लाइन सर्वे करा उनका वर्ग बनातें हुए कराएं पढ़ाई

हरदोई। (यासिर कासमी)
सरकारी स्कूलों के बच्चों की दशा तमाम हद तक बदल चुकी है, शिक्षको को अब उन्हें नई दिशा देने की ज़िम्मेदारी निभानी होगी। गुरुवार को प्राथमिक विद्यालय रामनगर में शिक्षक संकुल की बैठक हुई। बैठक में बच्चों को देश का होनहार नागरिक बनाने बिन्दुओं पर खुलकर चर्चा की गई।
बावन ब्लाक की न्याय पंचायत बेहटा सधई के शिक्षक संकुल की बैठक में सन्तोष कुमार ने कहा कि सरकार बच्चों की ड्रेस, जूतें,मोज़े और बैग का पैसा उनके अभिभावकों के बैंक खाते में भेज रही है।इसके लिए बच्चों का डाटा जमा कर डीबीटी का सत्यापन होना है। राजीव सिंह चौहान ने कहा कि सरकार सभी को अच्छी शिक्षा देना चाहती है। इसके लिए शिक्षकों को अपने कर्तव्य ईमानदारी से निभाने होंगे। दीप्ति ने कहा कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए शिक्षण कार्य कराएं जाएं।साथ ही रीड एलांग, सम्पर्क बैठक, दीक्षा एप व प्रेरणा लक्ष्य एप को माध्यम बनाते हुए बच्चों को शिक्षित करना सुनिश्चित करें।विजय बहादुर ने कहा कि जिन विद्यालयों से अभी तक विद्यालय प्रबंध समिति का अवशेष और माह सितम्बर तक अंकित छात्र संख्या फार्मेट जमा नहीं हुआ है ,24 सितंबर तक जमा करना सुनिश्चित करें। बैठक में बच्चों को अच्छे संस्कार और अच्छी शिक्षा देते हुए उन्हें देश का होनहार नागरिक बनाने के बिन्दुओं पर खुलकर चर्चा की गई। सरकार की मंशा के तहत शिक्षण कार्य सुनिश्चित कराने का संकल्प लिया गया।बैठक में वर्षा शर्मा, सत्येन्द्र कुमार, मनीष राठौर,शराफत अली,अजय मिश्रा,तरन्नुम खातून,रेनू देवी, ज्योति बाजपेई,मंजूषा रानी व मिथिलेश कुमारी के अलावा न्याय पंचायत के सभी प्रधानाध्यापक, प्रधानाध्यापिका, इंचार्ज अध्यापक व विज्ञान शिक्षक मौजूद रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *