गोरखपुरमसाइल-ए-दीनीया

कोरोना टेस्ट करवाने से रोज़ा नहीं टूटेगा : मुफ्ती अज़हर

गोरखपुर। बुधवार को उलेमा-ए-अहले सुन्नत द्वारा जारी रमज़ान हेल्प लाइन नम्बरों पर दिनभर कॉल आती रही। लोगों ने नमाज़, रोजा, जकात, फित्रा व अन्य जदीद मजहबी सवाल पूछे। उलेमा-ए-किराम ने क़ुरआन व हदीस की रोशनी में जवाब दिया।

सवाल: क्या कोरोना टेस्ट करवाने से रोजा टूट जाएगा? (नवेद आलम, खोखर टोला)
जवाब: नहीं। कोरोना टेस्ट करवाने से रोजा नहीं टूटेगा, हां इसमें एहतियात लाज़िम है कि रूई के जर्रात हलक में न जाएं। (मुफ्ती मो. अज़हर शम्सी)

सवाल: लेंस लगा कर वुजू और गुस्ल करना कैसा? (राजिक, तिवारीपुर)
जवाब: लेंस लगा कर वुजू और गुस्ल करना दुरुस्त है, वजू और गुस्ल हो जाएगा। (मुफ्ती खुश मोहम्मद मिस्बाही)

सवाल: क्या खून निकलवाने से वुजू टूट जाता है? (निशात, सूफीहाता)
जवाब: हां। खून निकलवाने से वुजू टूट जाता है। (मौलाना मो. असलम रज़वी)

सवाल: नमाज़े तरावीह में क़ुरआन-ए-पाक देखकर पढ़ने से नमाज़ हो जायेगी? (मोहसिन खान, मौलवी चक)
जवाब: नहीं। नमाज़े तरावीह में क़ुरआन-ए-पाक देखकर पढ़ने से नमाज़ नहीं होगी। (मौलाना मोहम्मद अहमद निज़ामी)

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button