गोरखपुर

नमाज़ मोमिन की मेराज है: आलिमा महजबीन सुल्तानी

महिलाओं की सात दिवसीय महफिल का आगाज़

गोरखपुर। शब-ए-मेराज के मौके पर मदरसा क़ादरिया तजवीदुल कुरआन निस्वां इमामबाड़ा अलहदादपुर में महिलाओं की सात दिवसीय महफिल का आगाज़ शनिवार से हुआ। मदरसे की बच्चियों ने शानदार नात व मनकबत पेश की।

आलिमा महजबीन सुल्तानी ने कहा कि 27 रजब की रात रसूल-ए-पाक हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम को सातों आसमानों की सैर कराई गई। जन्नत और दोजख दिखाई गई। मस्जिद-ए-अक्सा में रसूल-ए-पाक ने पैंगबरों व फरिश्तों की इमामत की। शब-ए-मेराज में अहकामे खास रसूल-ए-पाक पर नाज़िल हुए और आप अल्लाह के दीदार से सरफराज़ हुए। शब-ए-मेराज में रसूल-ए-पाक को पांच वक्त की नमाज़ों का तोहफा मिला। नमाज़ मोमिन की मेराज है। मुसलमान अगर तरक्की चाहते हैं तो नमाज़ को कायम करें। अल्लाह और रसूल की तालीमात पर पूरी बेदारी के साथ अमल करें। बुराईयों से दूर रहें। बुराईयों के कारण एक मुसलमान पर ही नहीं बल्कि पूरे कौम पर खराब असर पड़ता है। कुरआन-ए-पाक व हदीस-ए-पाक की तालीम के मुताबिक जिंदगी गुजारें। तालीम पर ध्यान दें। खास कर हमारी मां बहनें अपने हक़ को पहचानें। तालीम के बगैर कोई भी इंसान व कौम तरक्की नहीं कर सकती है।

अंत में दरूदो सलाम पढ़कर भाईचारगी व अमन शांति की दुआ मांगी गई। महफिल इसी तरह 12 मार्च तक दोपहर 12 से 2 बजे तक जारी रहेगी। महफिल में नौशीन फातिमा, सीमा बानो, शीबा परवीन, साहिबा परवीन, शहाना परवीन, अंसिया परवीन, शबाना परवीन, अर्शी फातिमा, हसीना बानो, मैमुन निशा, नसरीन फातिमा, शाहजहां, फातिमा खातून आदि ने शिरकत की।

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button