बरेली

बरेली शरीफ: उर्स रज़वी का कार्यक्रम जारी, 21 सितंबर को परचम कुशाई से होगा आगाज़

  • पहले दिन परचम कुशाई से आगाज़
  • रात में नातिया मुशायरा।
  • दूसरे दिन आपसी सौहार्द कांफ्रेस।
  • आखिरी दिन आला हज़रत के कुल के साथ होगा उर्स का समापन।

बरेली शरीफ।
आला हज़रत फ़ाज़िले बरेलवी का 104 वा उर्से रज़वी 21,22,23 सितंबर को मनाया जाएगा। उर्स के दौरान तीनो दिन होने वाले विभिन्न कार्यक्रम होगें। दरगाह प्रमुख हज़रत मौलाना सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) व सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) ने आज कार्यक्रम जारी कर दिए। मंज़र-ए-इस्लाम के वरिष्ठ शिक्षक मुफ्ती सलीम नूरी ने बताया उर्स के सभी कार्यक्रम इस्लामिया मैदान व दरगाह परिसर में दरगाह प्रमुख की सरपरस्ती व सज्जादानशीन की सदारत में अदा किए जायेंगे। वही तरही मुशायरा के लिए मिसरा “इधर उम्मत की हसरत पर उधर खालिक की रहमत पर” रहेगा। देश विदेश के शायरों को इसी मिसरे पर अपने-अपने कलाम पेश करने होगें।
मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी ने बताता की उर्से रज़वी का आगाज़ 21 सितम्बर बुद्ध को परचम कुशाई की रस्म के साथ शाम 5 बजे होगा। परचम कुशाई की रस्म दरगाह प्रमुख हज़रत सुब्हानी मियां के दस्त-ए-मुबारक (हाथों) से अदा की जाएगी। इससे पहले आज़म नगर स्थित अल्लाह बख्श के निवास से सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन मियां की क़यादत में परचमी जुलूस निकलेगा। परचमी जुलूस आजम नगर से निकलकर दरगाह आला हज़रत पहुँचगे यहाँ सलामी देने के बाद दरगाह प्रमुख की क़यादत में इस्लामिया मैदान पहुँचेगा। बाद नमाज़-ए-मग़रिब महफ़िल ए मिलाद होगी इसके बाद मुख्य कार्यक्रम बाद नमाज़ ए ईशा (रात 9 बजे) शुरू होगा। इसी दिन रात में 10 बजकर 35 मिनट पर हुज्जातुल इस्लाम के कुल शरीफ की रस्म अदा की जाएगी। मुशायरा सुबह तड़के तक चलेगा।
22 सितम्बर (गुरुवार) बाद नमाज़ ए फ़ज़्र कुरानख्वानी। इसके बाद कांफ्रेस। सुबह 9.58 मिनट पर रेहाने मिल्लत व 10.30 बजे मुफ़स्सिर-ए आज़म के कुल शरीफ की रस्म अदा होगी। इसके बाद आपसी सौहार्द कॉन्फ्रेंस होगी। दिन में कार्यक्रम व चादरपोशी का सिलसिला जारी रहेगा। रात में दुनियाभर के मशहूर उलेमा की तक़रीर होगी। देर रात 1 बजकर 40 मिनट पर मुफ्ती आज़म-ए-हिन्द के कुल शरीफ की रस्म अदा होगी।
23 सितंबर (जुमा) बाद नमाज़ ए फ़ज़्र कुरानख्वानी। सुबह 8 बजे से नात ओ मनकबत व तक़रीर का सिलसिला शुरू होगा। जो 2 बजकर 38 मिनट तक जारी रहेगा। आला हज़रत के कुल शरीफ के साथ तीन रोज़ा उर्स का समापन होगा।
उर्स की तैयारियां लगातार जारी है। टीटीएस की टीम उर्स को लेकर शहर भर में बैठकें कर रही है। जिसमे मुख्य रूप से मौलाना ज़ाहिद रज़ा,परवेज़ नूरी,अजमल नूरी,ताहिर अल्वी,शाहिद नूरी,औरंगजेब नूरी,हाजी जावेद खान,मंज़ूर रज़ा,आसिफ रज़ा,शान रज़ा,सय्यद फैज़ान अली,यूनुस गद्दी,खलील क़ादरी,रईस रज़ा,तारिक सईद,मुजाहिद रज़ा,आलेनबी,इशरत नूरी,ज़ीशान कुरैशी,हाजी अब्बास नूरी,सय्यद माजिद अली,सय्यद एज़ाज़,काशिफ सुब्हानी,फ़ारूक़ खान,साजिद नूरी,गौहर खान,जोहिब रजा,सबलू अल्वी,गफ़ूर पहलवान,सरताज बाबा,शहज़ाद पहलवान,आरिफ रज़ा,एडवोकेट काशिफ रज़ा,अजमल खान,समी खान,सुहैल रज़ा,शाद रज़ा,अरबाज़ रज़ा,अदनान खान,जावेद खान,अयान क़ुरैशी,साकिब रज़ा,रोमान रज़ा,हाजी शकील नूरी,ज़हीर अहमद,फ़ैज़ कुरैशी,नईम नूरी,मुस्तक़ीम नूरी,इरशाद रज़ा,आसिम नूरी,अश्मीर रज़ा,फ़ैज़ी रज़ा आदि लोग शामिल है।

नासिर कुरैशी
मीडिया प्रभारी
9897556434

हमारी आवाज़

हमारी आवाज एक निष्पक्ष समाचार वेबसाइट है जहां आप सच्ची खबरों के साथ-साथ धार्मिक, राष्ट्रीय, राजनीतिक, सामाजिक, साहित्यिक, बौद्धिक‌ एवं सुधारवादी लेख तथा कविता भी पढ़ सकते हैं। इतना ही नहीं आप हमें अपने आस-पड़ोस के समाचार और लेख आदि भी भेज सकते हैं।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button