गोरखपुर

गोरखपुर: पहली मुहर्रम से बयां होगी कर्बला की दास्तान

गोरखपुर। पहली मुहर्रम से दसवीं मुहर्रम तक शहर की विभिन्न मस्जिदों में शहीद-ए-आज़म हज़रत सैयदना इमाम हुसैन रदियल्लाहु अन्हु व उनके जांनिसारों को शिद्दत से याद किया जाएगा। उलमा किराम कर्बला की दर्द भरी दास्तान से अवाम को रूबरू करवायेंगे। मुस्लिम समाज के लोग हज़रत सैयदना इमाम हुसैन के नक्शे कदम पर चलने का प्रण लेंगे।

  1. जामा मस्जिद रसूलपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शोह-दाए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना जहांगीर अहमद अजीजी का खिताब होगा।
  2. हज़रत मुकीम शाह जामा मस्जिद बुलाकीपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शोह-दाए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना रियाजुद्दीन कादरी की तकरीर होगी।
  3. मरकजी मदीना जामा मस्जिद रेती चौक में पहली मुहर्रम से दसवीं मुहर्रम तक सुबह 9 से 11 बजे तक ‘जिक्रे शहीद-ए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें मुफ्ती मेराज अहमद क़ादरी कर्बला की दास्तान बयान करेंगे।
  4. सुन्नी बहादुरिया जामा मस्जिद रहमतनगर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना अली अहमद तकरीर करेंगे।
  5. गौसिया जामा मस्जिद छोटे काजीपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शोह-दाए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना महबूब कर्बला के वाकयात पर‌ रौशनी डालेंगे।
  6. बेलाल मस्जिद इमामबाड़ा अलहदादपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शोह-दाए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें कारी शराफत हुसैन कादरी रज़वी की तकरीर होगी।
  7. मदरसा जामिया कादरिया तजवीदुल क़ुरआन लिल बनात अलहदादपुर में ख्वातीने इस्लाम का अजीमुश्शान ‘जिक्रे शहीद-ए-कर्बला’ प्रोग्राम पहली से दसवीं मुहर्रम तक दोपहर में बाद नमाज जोहर से असर तक आयोजित होगा। जिसमें महिला धर्मगुरुओं का खिताब होगा।
  8. बेनीगंज ईदगाह रोड मस्जिद में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-कर्बला’ महफिल होगी। जिसमें कारी मोहम्मद शाबान बरकाती तकरीर करेंगे।
  9. दारुल उलूम अहले सुन्नत मजहरुल उलूम घोषीपुरवा में पहली से पांचवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शोह-दाए-कर्बला’ महफिल होगी। तकरीर मौलाना जाहिद मिस्बाही, कारी मोहम्मद तनवीर अहमद कादरी व कारी रईसुल कादरी पेश करेंगे।
  10. मकतब इस्लामियात तुर्कमानपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफ़िल होगी। जिसमें नायब काजी मुफ्ती मोहम्मद अजहर शम्सी का खिताब होगा।
  11. मस्जिद फैजाने इश्के रसूल शहीद अब्दुल्लाह नगर सैयद आरिफपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज़ एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफिल होगी। जिसमें मुफ्ती-ए-शहर अख्तर हुसैन मन्नानी का खिताब होगा।
  12. पुराना गोरखपुर गोरखनाथ सवेरा मैरेज हाउस के पीछे पहली से दसवीं मुहर्रम तक शाम में बाद नमाज़ मगरिब ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफिल होगी। जिसमें नायब काजी मुफ्ती मोहम्मद अजहर शम्सी का खिताब होगा।
  13. मदरसा अहले सुन्नत मदीना तुर रसूल अहमदनगर चक्शा हुसैन में पहली से पांचवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज़ एशा जिक्रे शहीद-ए-कर्बला महफिल होगी। जिसमें मौलाना मो. सैफ अली, मौलाना शादाब अहमद, मौलाना दानिश आदि तकरीर करेंगे।
  14. मस्जिद गुलशने कादरिया असुरन भेड़ियागढ़ बशारतपुर में पहली से दसवीं मुहर्रम तक रात में बाद नमाज़ एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफिल होगी। जिसमें हाफिज शाकिर अली निजामी का खिताब होगा।
  15. हुसैनी जामा मस्जिद बड़गो के निकट पहली व दूसरी मुहर्रम को रात में बाद नमाज़ एशा ‘जिक्रे शहीद-ए-आज़म’ महफिल होगी। जिसमें मौलाना फैजान रज़ा का खिताब होगा। नात व मनकबत दारैन हैदर पेश करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *