स्वास्थ्य

तोंद

लेखक: अब्दे मुस्तफ़ा

हज़रते उमर फारूक़ रदिअल्लाहु त’आला अन्हु ने एक तोंद वाले (यानी पेट बाहर निकले हुये) शख्स को देखा तो पूछा :
ما ھذا؟
“ये क्या है?”
उस ने कहा कि “ये अल्लाह की तरफ़ से बरकत है”
आप ने फरमाया: ये बरकत नहीं बल्कि अल्लाह की तरफ़ से अज़ाब है।

(مناقب امیر المومنین عمر بن الخطاب، ص194)

हज़रत फारूक़ -ए- आज़म फरमाते हैं :

ए लोगों! अपने आप को तोंद वाला होने से बचाओ यानी खाने पीने के सबब अपना पेट बड़ा होने से बचाओ क्योंकि मोटापा तुम्हारे वुजूद को खराब करने वाला, बुज़दिली को पैदा करने वाला, नमाज़ में सुस्ती दिलाने वाला है और तुम पर ज़रूरी है कि खाने पीने में एहतियात से काम लो क्योंकि खाने पीने में मियाना रवी जिस्म को दुरुस्त रखती है, इसराफ से बचाती है।

(انظر: فیضان فاروق اعظم، ج2، ص382)

अगर आप तोंद वाले नहीं बनना चाहते तो अपने खान पान पर तवज्जोह दें। ज़्यादा खाना और ज़्यादा आराम दोनों से बचें और अपने आप को “फिट” रखें।

शोऐब रज़ा

विश्व प्रसिद्ध वेब पोर्टल हमारी आवाज़ के संस्थापक और निदेशक श्री मौलाना मोहम्मद शोऐब रज़ा साहब हैं, जो गोरखपुर (यूपी) के सबसे पुराने शहर गोला बाजार से ताल्लुक रखते हैं। वे एक सफल वेब डिजाइनर भी हैं। हमारी आवाज़

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button