गोरखपुर

इस्लामी माह जमादी-उल-अव्वल का हुआ आगाज़, मनाया जाएगा उर्स-ए-पाक

गोरखपुर। इस्लामी कैलेंडर का पांचवां महीना जमादी-उल-अव्वल है। इस माह का आगाज़ सोमवार से हुआ। इस माह में देश-विदेश की तमाम मुक़द्दस हस्तियों का उर्स-ए-पाक अकीदत के साथ मनाया जाएगा।

हाफ़िज़ महमूद रज़ा क़ादरी ने बताया कि शहर की कई मस्जिदों में भी उर्स-ए-पाक मनाया जाएगा। क़ुरआन ख़्वानी, फातिहा ख़्वानी व दुआ ख़्वानी कर खिराज-ए-अकीदत पेश किया जाएगा। हाफ़िज़ रहमत अली निज़ामी ने बताया कि इस माह मुक़द्दस हस्तियों के जीवन पर प्रकाश डाल उनके नक्शेकदम पर चलने का संकल्प लिया जाएगा। घरों व मस्जिदों में भी फातिहा ख़्वानी होगी।

इस माह इनका मनाया जाएगा उर्स-ए-पाक

2 जमादी-उल-अव्वल को आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खां अलैहिर्रहमां के दादा अल्लामा मुफ़्ती रज़ा अली खान नक्शबंदी अलैहिर्रहमां, 5 को हज़रत जैद बिन हारिशह, हज़रत सैयदना जाफ़र तय्यार बिन अबू तालिब, हज़रत अब्दुल्लाह बिन रवाहा रदियल्लाहु अन्हु, 6 को मुजाहिदे मिल्लत हज़रत मौलाना हबीबुर्रहमान अलैहिर्रहमां, 10 को हज़रत शैख़ नजमुद्दीन कुबरा अलैहिर्रहमां, 17 को हज़रत हामिद रज़ा खां अलैहिर्रहमां, हज़रत सैयदना अब्दुल्लाह बिन जुबैर रदियल्लाहु अन्हु, हज़रत सैयद बदीउद्दीन मदार अलैहिर्रहमां, 18 को हज़रत इमाम जलालुद्दीन सुयूती अलैहिर्रहमां, 22 को हज़रत सैयद अहमद कबीर रिफाई अलैहिर्रहमां, 23 को आखिरी मुगल बादशाह बहादुर शाह जफ़र, 26 को हज़रत सुल्तान ख़्वाजा इब्राहिम बिन अदहम अलैहिर्रहमां, 29 को हज़रत सैयदना खालिद बिन वलीद रदियल्लाहु अन्हु, 30 को हज़रत ख़्वाजा फरीदुद्दीन अत्तार अलैहिर्रहमां का उर्स-ए-पाक अकीदत के साथ मनाया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *