गोरखपुर

काज़ी हाउस पर चला सदर तहसील प्रशासन का बुलडोजर

गोरखपुर। सिविल लाइन्स काजी हाउस स्थित नजूल भूमि पर सिटी मजिस्ट्रेट न्यायालय से 19 जनवरी 2021 को बेदखली आदेश के बाद 18 अवैध कब्जेदारों के विरुद्ध कब्जा मुक्त करने की कार्रवाई सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दीक्षित के नेतृत्व में की गई।
सिविल लाइंस स्टेशन रोड काजी हाउस पर वर्षों से अतिक्रमण कर अवैध तरीके से अर्ध निर्मित मकान निर्माण करा कर रह रहे नजूल की जमीन पर अतिक्रमणकारियों को ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीना के निर्देश पर सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित के नेतृत्व में अतिक्रमण किये 18 लोगों के अर्ध निर्मित मकानों को ध्वस्त कर कब्जा मुक्त करने की कार्यवाही किया गया अतिक्रमणकारियों द्वारा किए हुए अतिक्रमण स्थल को एक वर्ष पूर्व की गई थी कार्यवाही वहां मौके पर अवैध अतिक्रमणकारियों ने अपना फर्जी दस्तावेज तैयार करा कर दस्तावेज प्रस्तुत करने लगे उसको देखते हुए तहसील प्रशासन ने सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव के न्यायालय में 63 लोगों के खिलाफ कब्जा मुक्त करने का वाद दाखिल किया था सिटी मजिस्ट्रेट ने 19 जनवरी 2021 को अतिक्रमणकारियों को स्वतः अवैध तरीके से कब्जा कर रहे स्थान को खाली करने का निर्देश दिया था लेकिन अतिक्रमणकारियों ने कब्जा हटाने का नाम नहीं लिया। जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन के निर्देश पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीना ने सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दीक्षित के नेतृत्व में टीम गठित कर कब्जा किए हुए स्थान सिविल लाइंस स्टेशन रोड काजी हाउस को कब्जा मुक्त कराने को कहा सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित अपने राजस्व कर्मचारियों तथा नगर निगम जेसीबी मशीनों व पुलिस फोर्स के साथ 18 लोगों के घरों को खाली कराते हुए काजी हाऊस को कब्जा मुक्त कराया बचे हुए कब्जा धारियों को भी बहुत ही जल्द खाली करा दिया जाएगा।इस दौरान सदर तहसीलदार डॉक्टर संजीव दिक्षित के अलावा कानूनगो नगर प्रद्युम्न सिंह व कानूनगों नौसढ़ वीर बहादुर सिंह
लेखपाल बृजेश सिंह अजय प्रजापति राम गुप्ता आशीष पांडेय जयदेव सिंह रजत वर्मा रिंकी शर्मा पिंकी चौहान अमीन योगेंद्र चौबे विद्या पांडेय नगर निगम कर्मचारी व पुलिस बल आदि मौजूद।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *