प्रयागराज

डेंगू व अन्य संचारी रोगो के नियंत्रण हेतु वार्षिक कार्ययोजना बनाये जाने के सम्बंध में गठित जनपद स्तरीय अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक सम्पन्न।

सलमान अहमद की रिपोर्ट।

प्रयागराज, उत्तर प्रदेश।

जिलाधिकारी ने डेंगू एवं अन्य संचारी रोगो के प्रभावी नियंत्रण हेतु सम्बंधित विभागों को प्रभावी वार्षिक कार्ययोजना बनाये जाने के सम्बंध में दिए आवश्यक निर्देश

जिलाधिकारी श्री संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित संगम सभागार में डेंगू व अन्य संचारी रोगो के नियंत्रण हेतु गठित जनपद स्तरीय अन्तर्विभागीय समन्वय समिति की वार्षिक कार्ययोजना बनाये जाने के सम्बंध में बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने डेंगू एवं अन्य संचारी रोगो के प्रभावी नियंत्रण हेतु प्रभावी वार्षिक कार्ययोजना बनाये जाने के सम्बंध में आवश्यक निर्देश सम्बंधित विभागों को दिए है। उन्होंने कहा कि जनवरी, फरवरी एवं मार्च माह में डेंगू एवं संचारी रोगो के नियंत्रण हेतु वर्ष 2023 हेतु जनपद स्तरीय कार्ययोजना बनाने तथा संचारी रोगो के हाईरिस्क एरिया का चिन्हीकरण करने एवं मच्छर जनित परिस्थितियों को समाप्त करने हेतु साप्ताहिक अन्तराल पर एण्टीलार्वा के छिड़काव की व्यवस्था पहले से ही सुनिश्चित किए जाने तथा वर्ष 2023 में प्रयुक्त होने वाले एण्टीलार्वा के छिड़काव के लिए प्रयुक्त होने वाले रसायनों की व्यवस्था, मशीनों की मरम्मत, आशाओं का प्रशिक्षण कराये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही किए जाने के लिए कहा है। उन्होंने अप्रैल, मई एवं जून माह में जहां पर जल भराव की सम्भावना रहती है, वहां पर जल निकासी हेतु आवश्यक कार्यवाही किए जाने तथा नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत द्वारा शहरी क्षेत्रों में तथा ग्राम पंचायत स्तर से ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई एवं कुड़े के निस्तारण की व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने हेतु आवश्यक किए जाने तथा जनपद एवं ब्लाक स्तर पर क्वीक रिस्पांस टीम का गठन किए जाने के लिए कहा है तथा जल भराव वाले स्थलों पर एण्टीलार्वा का छिड़काव कराये जाने हेतु आवश्यक कार्ययोजना बनाये जाने के लिए कहा है साथ ही साथ उन्होंने जागरूकता अभियान भी चलाये जाने के लिए कहा है। जिलाधिकारी ने जुलाई, अगस्त एवं सितम्बर तथा अक्टूबर, नवम्बर एवं दिसम्बर माह में भी डेंगू एवं अन्य संचारी रोगो के नियंत्रण हेतु पहले से प्रभावी कार्ययोजना बनाये जाने के लिए कहा है, जिसके अन्तर्गत नालों की मशीनों के द्वारा नियमित अंतराल पर सफाई की व्यवस्था किए जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही किए जाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा है कि इस बार जहां पर भी डेंगू के मरीजों की अधिक संख्या पायी गयी है, ऐसे स्थलों को चिन्हित करते हुए वहां के लिए साफ-सफाई, फागिंग एवं जल निकासी हेतु माइक्रोप्लान बनाकर उसके अनुसार कार्यवाही किए जाने के लिए कहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्ष-2023 में ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू एवं संचारी रोगो के नियंत्रण हेतु सभी ग्राम पंचायतों में फागिंग हेतु फागिंग मशीन एवं छिड़काव वाले रसायन की पहले से ही व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के लिए कहा है। उन्होंने डेंगू के बचाव एवं लक्षणों के बारे में पहले से ही व्यापक जनजागरूकता अभियान आडियों एवं वीडियों तथा अन्य माध्यमों से कराये जाने के लिए कहा है। इसके साथ ही साथ उन्होंने सभी विद्यालयों में बच्चों को फुल आस्तीन के कपड़े पहनने के लिए जागरूक करने हेतु जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को पहले से ही जनजागरूकता अभियान चलाने तथा विद्यालय स्तर पर बिंदुवार एजेंडा बनाये जाने के लिए कहा है। इसके साथ ही साथ उन्होंने अप्रैल माह से ही कंट्रोल रूम को क्रियाशील कराये जाने तथा सर्विलांश टीम का गठन किए जाने के लिए कहा है। उन्होंने अप्रैल माह में ही जनप्रतिनिधियों व अन्य सम्बंधित के साथ डेंगू नियंत्रण के लिए की जाने वाली कार्यवाही के सम्बंध में बैठक किए जाने के लिए कहा है। उन्होंने नगर में स्थित डेरी फार्मों को शिफ्ट किए जाने हेतु आवश्यक कार्ययोजना बनाये जाने तथा शहर के खुले स्थानों पर जहां-जहां झाड़ियां हो, उनकी कटाई कर साफ-सफाई कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने माह मई के पूर्व ही क्विक रिस्पांस टीम का गठन कर लेने के लिए कहा है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को रक्तदान करने वाले लोगो की लिस्ट बनाये जाने और ब्लड बैंक के मैनेजमेंट व ब्लड को टेस्ट किए जाने तथा जरूरत होने पर ही प्लेटलेट्स चढ़ाये जाने के लिए कहा है। इस अवसर पर नगर आयुक्त श्री चन्द्र मोहन गर्ग, मुख्य विकास अधिकारी श्री शिपू गिरि, मुख्य चिकित्साधिकारी श्री नानक शरन सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button